Wheat Price Today 2023 : गेहूं के नए रेट देख किसानो के चेहरे पर आएगी रौनक, अच्छे से अच्छे रेट में बिक रहा गेहूं

0 minutes, 5 seconds Read
Spread the love

Wheat Price Today 2023 : गेहूं के नए रेट देख किसानो के चेहरे पर आएगी रौनक, अच्छे से अच्छे रेट में बिक रहा गेहूं, गेहूँ का दाम पंहुचा 3000 रु क्विंटल के पार, अब किसानो की बल्ले-बल्ले, मध्यप्रदेश की देवास मंडी में इस वर्ष भी गेहूं की बंपर आवक हो रही है। इसके बावजूद उपभोक्ताओं को सालाना संग्रह के लिए गेहूं के दाम काफी ऊंचे देना पड़ रहे हैं। गत वर्ष से करीब 500 रुपये क्विंटल अधिक भाव बताए जा रहे हैं। इधर मंडी समिति की आय ने नया रिकार्ड बना लिया है

गेहूं के भाव ने बनाया नया रिकॉर्ड

मंडी में इस वर्ष भी गेहूं की बंपर आवक हो रही है। इसके बावजूद उपभोक्ताओं को सालाना संग्रह के लिए गेहूं के दाम काफी ऊंचे देना पड़ रहे हैं। गत वर्ष से करीब 500 रुपये क्विंटल अधिक भाव बताए जा रहे हैं। इधर मंडी समिति की आय ने नया रिकार्ड बना लिया है।

Read more : Lpg Gas Cylinder Price : बड़ी खुशखबरी! LPG सिलेंडर हुआ सस्ता, अभी जानिए अपने शहर का नई कीमत?

गेहूं की आवक में हुई तगड़ी बढ़ोतरी

वित्तीय वर्ष 31 मार्च तक आय का आंकड़ा 32 करोड़ को पार कर गया है। जिसमें करीब 31 करोड़ मंडी शुल्क जमा हुआ है। इस तरह यह संभाग की सर्वाधिक आय अर्जित करने वाली मंडी हो गई है। उज्जैन जिले में गेहूं की बोवनी का रकबा बढ़ने के साथ ही उत्पादन भी बंपर हुआ है। फरवरी के दूसरे सप्ताह से ही मंडी में नए गेहूं की आवक शुरू हो गई थी। जो की दिन प्रति दिन बढ़ती गई और अभी भी बढ़ती ही जा रही है।

चमकदार गेहूं के भाव ने पकड़ी तेजी

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार गत दिनों से नीलामी में 40 हजार बोरी की आवक दर्ज की जा रही है लेकिन बेमौसम बारिश से क्वालिटी काफी प्रभावित हुई है। चमकदार गेहूं की पैदावार कम हो गई। लस्तर गेहूं ज्यादा आने लगा है। जिसके परिणाम स्वरुप चमक वाले गेहूं के भाव 3100 रुपये क्विंटल तक पहुंच गए। वही चमक विहीन गेहूं 2000 से 2100 रुपये क्विंटल बिक रहा है। ऐसे में उपभोक्ताओं को अच्छे गेहूं सालाना रखने के लिए 3000 रुपये क्विंटल से अधिक भाव देना पड़ रहे हैं। जिससे स्थानीय ग्राहकी में कमी आ गई है। उपभोक्ता गेहूं सस्ता होने का इंतजार कर रहा है।

Read more : Cotton Price Today 17 April 2023: नरमा कपास में मंदा, यहाँ देखें ताजा रेट

मंडी सचिव का क्या कहना है जाने

मंडी सचिव उमेश बसेडिया शर्मा ने बताया कि मंडी आय में गत वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष करीब 8 करोड़ का इजाफा हुआ है। मंडी शुल्क से करीब 31 करोड़ 25 लाख, लाइसेंस शुल्क व अन्य स्त्रोत से करीब 88 लाख रुपये आय के रूप में प्राप्त हुए हैं। संभाग के उड़न दस्ता प्रभारी दीपक श्रीवास्तव ने बताया कि आय में इजाफा होने का कारण स्थानीय प्रशासन की कसावट के साथ ही बाहरी क्षेत्र में दस्ते की चौकसी से बेनामी व्यापार पर लगाम लगी है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *