Weather update : मौसम में एक बार फिर देखने को मिलेगा परिवर्तन, अगले 3 दिनों में होगी भारी बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

0 minutes, 5 seconds Read
Spread the love

Weather update :  प्रदेश के अधिकतम टेंपरेचर में कुछ कमी भी आई है। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश के अधिकतम टेंपरेचर में कई विशेष परिवर्तन भी हुए है। इस दौरान आज से मौसम में कुछ वादे बदलाव देखने को मिल सकता है। इसी के साथएक नए सिस्टम के एक्टिव होने की भी आशंका जताई जा रही है। इसकी वजह से बादल छाएंगे और कहीं कहीं बूंदाबांदी भी हो सकती है। मध्यप्रदेश में सतत मौसम में बदलाव देखा जा रहा है। तेज गर्मी के साथ बादल भी छाए हुए है। शुक्रवार को राजधानी भोपाल समेत प्रदेश के कई राज्यों में बादल छाए रहे। कहीं बिन मौसम बारिश हो रही हैं, तो कहीं बिजली गिर रही हैं, तो कहीं आंधी तूफ़ान, तो कहीं चमक गरज ने आम जनजीवन पूरी तरह से प्रभावित कर रखा हैं। भोपाल में लगातार दूसरे दिन तेज गर्मी रिकॉर्ड की गई है।

Read more : Gold Price Today : सोने का दाम धड़ाम से गिरा आज देखो और भी हुआ सोना सस्ता देखे आज के ताजा भाव

मध्य प्रदेश में कैसा रहा पिछले दिन का मौसम

इंडियन मौसम विभाग के सेंटर के अनुसार पिछले 24 घंटे में प्रदेश के सभी जिलों में मौसम शुष्क बना रहा। इस बीच अधिकतम टेंपरेचर में कोई खास परिवर्तन नहीं हुआ है। भोपाल, सागर, शहडोल और ग्वालियर संभाग के जिलों में सामान्य से अधिक और बाकी के जिलों में मौसम सामान्य रहा। प्रदेश का सबसे अधिक टेंपरेचर 41.8 डिग्री सेल्सियस राजगढ़, खुजराहो और दमोह में रिकॉर्ड किया गया।

नया सिस्टम लाएगा मध्य प्रदेश के मौसम में बड़ा परिवर्तन

साथ ही मौसम विभाग के मुताबिक उत्तर भारत में 15 अप्रैल से पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा, एवं इसी के साथ अगले 3 दिनों में तेज बारिश का अलर्ट जारी कर दिया गया हैं। जिसके कारण टेंपरेचर में काफी गिरावट आएगी और वर्षा के आसार बनेंगे। इस सिस्टम की वजह से 20 अप्रैल तक लू नहीं चलेगी। मौसम विभाग के मुताबिक शनिवार से मौसम बदलेगा और बादल छाएंगे। इस बीच कहीं-कहीं हल्की से मध्यम बूंदाबांदी भी हो सकती है। इस नए पश्चिमी विक्षोभ की वजह से जबलपुर, रीवा, इंदौर, उज्जैन, भोपाल और शहडोल संभाग में बूंदाबांदी हो सकती है।

Read more : Jodhpur Mandi Bhav : जोधपुर मंडी का ताजा भाव 14 अप्रैल अनाज का ताजा भाव

MP मौसम विभाग के द्धारा अभी दक्षिण-पश्चिम

राजस्थान पर साइक्लोन हवाओं का चक्र बना हुआ है और द्रोणिका पूर्वी विदर्भ से उत्तर तटीय कर्नाटक तक बनी हुई है। इस कारण अभी अरब सागर से आ रही नमी के कारण इंदौर में आंशिक बादल छा रहे हैं। शनिवार को उत्तर भारत में एक नया पश्चिमी विक्षोभ एक्टिव होगा। इससे अगले चार-पांच दिन काले व घने मेघ छाएंगे। वहीं ग्वालियर-चंबल संभाग में राजस्थान से आ रहीं गर्म हवाएं रविवार 16 अप्रैल के बाद कमजोर पड़ जाएंगी।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *