Sharbati Wheat Rate : सीहोर में शरबती गेहूं ने बनाया नया रिकार्ड, आष्टा मंडी में 8131 रुपए प्रति क्विंटल बिका, जानिए- क्या है खासियत?

0 Comments

Spread the love

Sharbati Wheat Rate : देशभर में सीहोर की पहचान बने शरबती गेहूं ने एक बार फिर नया रिकार्ड बना लिया है. पूरे मध्य प्रदेश में सबसे महंगा शरबती गेहूं सीहोर में बिका है. सीहोर की आष्टा कृषि उपज मंडी में व्यापारी ने किसान से आठ हजार 131 रुपए प्रति क्विंटल के भाव में शरबती गेहूं खरीदा है. इससे पहले शरबती गेहूं इतना महंगा नहीं बिका था. किसान को अपनी उपज के अच्छे भाव मिलने की वजह से उत्साह के माहौल में देखा गया.

बता दें कि प्रदेश की उन्नत मंडियों में शुमार आष्टा की ए क्लास कृषि उपज मंडी ने पूरे प्रदेश में इतिहास रच दिया है. आष्टा कृषि उपज मंडी में सबसे महंगा शरबती गेहूं खरीदा गया है. अच्छी क्वालिटी होने की वजह से मंडी के व्यापारी किसान को प्रति क्विंटल के लिए आठ हजार 131 रुपए दिए हैं. व्यापारी ने किसान से 14 क्विंटल उपज खरीदी है. शरबती गेंहू के प्रति क्विंटल आठ हजार 131 रुपए भाव मध्य प्रदेश में अब तक के सबसे महंगे दाम है. पिछले साल शरबती गेहूं पांच हजार 675 रुपए क्विंटल के भाव बिका था.

Read more : MSP uttrakhand : उत्तराखंड में गेहूं की खरीद का समर्थन मूल्य जारी, पिछली बार से इतने बढ़े रेट

अच्छी क्वालिटी के अच्छे दाम

आष्टा तहसील के नजदीकी गांव रोसला के किसान उत्तम सिंह अपनी शरबती गेहूं की 14 क्विंटल उपज लेकर आष्टा कृषि उपज मंडी पहुंचा था. किसान को उम्मीद थी कि आष्टा मंडी में उपज के अच्छे दाम मिलेंगे. किसान उत्तम सिंह की यह उम्मीद सही साबित हुई. किसान उत्तम सिंह की उपज अच्छी क्वालिटी की होने की वजह से मंडी में श्री नाथ ट्रेडर्स कंपनी ने भी दिल खोलकर दाम लगाए. इस 14 क्विंटल उपज के किसान को प्रति क्विंटल के हिसाब से आठ हजार 131 रुपए अदा किए गए. अच्छे भाव मिलने की वजह से किसान के चेहरे पर भी खुशी के भाव देखे गए. कृषि उपज मंडी के सचिव राजेश कुमार साकेत का कहना है कि आष्टा कृषि उपज मंडी में अच्छी वैरायटी होने पर किसान को उसी स्तर के दाम भी दिए जाते हैं.

सीहोर के शरबती को मिली यह उपाधि

बता दें कि सीहोर का शरबती गेहूं पूरे देश भर में ही फेमस है. सीहोर के शरबती की मायानगर मुंबई, दिल्ली, पुणे सहित अन्य महानगरों में खासी डिमांड रहती है. सीहोर के शरबती गेहूं की देश में सबसे प्रीमियम किस्त है. सीहोर क्षेत्र में एक काली और जलोढ़ उपजाऊ मिट्टी है जो शरबती गेहूं के उत्पादन के लिए उपयुक्त है. सीहोर के शरबती गेहूं को विशेष उपाधि दी गई है, इसे ‘द गोल्डन ग्रेन’ भी कहा जाता है, क्योंकि इसका रंग सुनहरा होता है और यह हथेली पर लेने में भी भारी लगता है. इसका स्वाद भी मीठा होता है. सीहोर के शरबती गेहूं में अन्य गेहूं की तुलना में ग्लूकोज और सुक्रोज जैसे सरल शर्करा की मात्रा भी अधिक होती है.

Read more : Kisan Credit Card : क‍िसानों की आमदनी बढ़ाने के ल‍िए व‍ित्‍त मंत्री का बड़ा ऐलान, सुनकर खुश होंगे सब

समय पर बोवनी, समय पर कटाई

किसान उत्तम सिंह को अपनी उपज के सही दाम मिलने पर किसान उत्तम सिंह ने बताया कि मैंने ओले-बारिश से पहले अपनी फसल काट ली थी. उन्होंने बताया कि मैंने समय पर ही उपज की बोवनी की थी और समय पर ही कटाई की है. इसी का परिणाम हुआ कि शरबती गेहूं की उपज चमकदार निकली, जिसके सही दाम मिले हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts