किसानो को लाइट की समस्या और घोड़ा रोज की समस्या से निजात दिला दूंगा जीवन सिंह

0 minutes, 12 seconds Read
Spread the love

 

जावरा- विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे जीवन सिंह शेरपुर लगातार फील्ड में डटे हुए हैं। सुबह से शाम तक उनका पूरा वक्त जनता के बीच ही बीत रहा है. शुक्रवार को विधानसभा क्षेत्र के गांव पिपलिया आंजना, बैलारा, रामगढ़ बैलारा, भाकर खेड़ी, धतुरिया, काबुल खेडी, चंदावता,केसरपुरा, खेड़ा,कलालीया,बडा़यला सरवन इन गांवों में गली-मोहल्ले व घर-घर पहुंचकर जन आशीर्वाद प्राप्त किया।

जनसंपर्क के दौरान बड़े बुजुर्ग युवाओं ने फुल मालाओं से स्वागत किया व फल फ्रूट से तोल कर समर्थन प्रदान करते हुए विजयी होने का आशीर्वाद प्रदान कर रहे हैं। शनिवार को वे मानन खेडा, पिपलिया जोधा, तारा खेड़ी, पीपलोदी, हनुमंतिया, पंत मेलकी, रणायरा गुर्जर, मोरिया जनसंपर्क करेंगे।

 

जनसंपर्क से पहले जावरा में इंडियन आर्मी से सेनावती होकर जावरा पहुंचे विनोद पाटीदार हतनारा का स्मृति चिन्ह भेंटकर जीवन सिंह शेरपुर ने सम्मानित किया व कालूखेड़ा पहुंचकर पूर्व कृषि मंत्री स्वर्गीय महेंद्र सिंह कालूखेड़ा की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

 

 

भाजपा कांग्रेस छोड़कर जीवन सिंह को दिया समर्थन

गांव चंदावता में जनसंपर्क के दौरान सुखेडा मडलम अध्यक्ष जितेंद्र चौधरी ने कांग्रेस से

इस्तीफा देकर जीवन सिंह शेरपुर को समर्थन दिया जितेंद्र चौधरी बोले जीवन सिंह शेरपुर सर्व समाज के लिए लड़ रहे है में और पुरी धनगर समाज जीवन शेरपुर के साथ है मैं कांग्रेस से इस्तीफा देकर जीवन सिंह शेरपुर को समर्थन करता हूं वही नानालाल धनगर चंदावता ने भाजपा की सदस्यता छोड़कर जीवन सिंह शेरपुर को समर्थन दिया।

 

 

जीवन सिंह शेरपुर ने चौपाल को संबोधित करते हुए कहा कि विधानसभा क्षेत्र में लोगों के बीच जाकर पंचायत स्तर पर उनकी समस्याएं ली जाएगी। व समस्याओं के समाधान के लिए प्राथमिकता से कार्य किया जाएगा। अगर लोग आशीर्वाद देते हैं तो उनकी उम्मीदों पर खरा उतरते हुए कार्य किया जाएगा। ताकि विधानसभा के लोग कभी अपने दिए हुए वोट पर पछतावा न करें ऐसी नौबत ही नहीं आने देंगे कि लोगों को कोई मलाल हो। वह यकीन दिलवाते हैं कि एक बार अगर लोगों ने उन्हें चुनकर विधानसभा पहुंचाया, तो जावरा की तस्वीर और तकदीर बदल कर दिखाएंगे। जो लोग कई साल सत्ता का सुख भोगने के बाद भी कुछ नहीं कर पाए उनके लिए भी एक मिसाल पेश करेंगे, ताकि आगामी समय मे कोई विधायक बनने की सोचे तो सत्ता हासिल करने की बजाए विकास को तवज्जो दे। ऐशो आराम की जिंदगी और गाडिय़ों में घूमने की बजाए लोगों के बीच जाए और उनकी समस्याओं का समाधान।

 

आपके वोट देने के बाद भी आप के गांव में पहुंचकर समस्या नहीं सुन पा रहे हैं यह लोग विकास करने नहीं आए पैसे कमाने आए हैं यह लोग व्यापारी हे इनको विकास से कोई मतलब नहीं आप व्यापारीयो से सावधान रहिए जब भी आप विधायक से मिलने जाते हो तो उसके पास में मिलने का टाइम नहीं होता है वह आपको टाइम देता है मुझे आप एक बार जीता कर भेजिए जो भी काम होगा जनता के बीच होगा जनता दरबार लगेगा और जनता कहेगी वही होगा गांव के लोग कहेंगे वो काम पहले होगा। एक बार ऑटो रिक्शा पर बटन दबाकर मुझे विजय बनाकर विधानसभा भेजिए जो काम 75 सालों में नहीं हुआ 5 सालों में कर के बताऊंगा

किसाने की फसलों का जो भी नुकसान होगा उतना लिख कर पटवारी उपर भेजेगा नहीं भेजा तो वह इस विधानसभा में काम नहीं करेगा। किसानों को लाइट की बड़ी समस्या है अगर यह लाइट भी देते हैं तो रात में देते हैं जिससे किसान पूरी रात अपनी नींद खराब करता है उसके बाद में भी लाइट सही से नहीं देते हैं खेतों की लाइट को आज जो 8 घंटे देर है उसको 10 घंटे करवाएंगे और वह भी दिन में जिससे किसानों को अपनी नींद खराब नहीं करनी पड़े घोड़ा रोज़ की समस्याओं को लेकर भी किसानों को निजात दिला दूंगा।

लेकिन एक बार आप लोगों वंशवाद की राजनीति के साथ आपको जाना है या बाहरी नेता के साथ जाना या आपके अपने उम्मीदवार के साथ जाना है यह आपको तय करना है।

 

 

 

डोर-टू-डोर लोगों का आशीर्वाद लिया व ऑटो रिक्शा के बटन दबाकर दबाकर कर विजय बनाकर विधानसभा भेजने की अपील की जनसंपर्क के बाद में सुखेड़ा में कार्यालय का उद्घाटन किया।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *