चेतन्य काश्यप फाउंडेशन के प्रतिभा सम्मान समारोह में करीब दो हजार मेधावी विद्यार्थी सम्मानित

0 minutes, 3 seconds Read
Spread the love

 

रतलाम  शिक्षा जीवन भर साथ रहने वाली हैं, आपने जो शिक्षा प्राप्त की है, उसे जितना बाटोगे, वह उतनी बढ़ेगी और आपका सम्मान भी बढ़ेगा। धन-दौलत चोरी हो सकती है ,लेकिन विद्या चोरी नहीं हो सकती। शिक्षा से जीवन का आधार बनाना बहुत आवश्यक है। विधायक चेतन्य काश्यप द्वारा शिक्षा, स्वास्थ्य, खेल के क्षेत्र में लगातार काम कर मानव सेवा की मिसाल कायम की गई है।

 

यह बात कर्नाटक राज्यपाल श्री थावरचंद गेहलोत ने चेतन्य काश्यप फाउंडेशन द्वारा आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह में कही। राज्यपाल रतलाम में कई कार्यक्रम में शामिल हुए। बरबड विधायक सभागृह में आयोजित कार्यक्रम में विधायक चेतन्य काश्यप, श्री जीतू जिराती, श्री प्रदीप पांडेय, श्री राजेंद्रसिंह लुनेरा, महापौर प्रहलाद पटेल, फाउंडेशन अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक श्री जितेंद्र गेहलोत, आयोजन समिति सलाहकार एवं पूर्व महापौर शैलेंद्र डागा मंचासीन रहे।

 

 

राज्यपाल श्री गेहलोत ने प्रतिभा सम्मान समारोह में सम्मानित होने वाले मेधावी विद्यार्थियों को बधाई देते हुए चेतन्य काश्यप फाउंडेशन को धन्यवाद ज्ञापित किया और कहा कि प्रतिभाओं को सम्मानित करने वाले ऐसे आयोजन से दूसरे बच्चे भी प्रेरित होंगे। श्री गेहलोत ने श्री काश्यप से 10वीं और 12वीं पास करने के बाद किन्हीं कारणों से उच्च शिक्षा से वंचित रहने वाले बच्चों के लिए प्रयास करने का आग्रह किया।

 

श्री जिराती ने कहा कि विधायक काश्यप अपने क्षेत्र में बच्चों का भविष्य बनाने का काम कर रहे है। उन्होंने जो संकल्प और प्रकल्प लिए है, वह हर कोई नहीं ले सकता है। अहिंसा ग्राम, कुपोषण, शिक्षा, खेल के क्षेत्र में वह काम कर रहे है। कोविड में जब रिश्तेदार और पैसा काम नहीं आ रहा था। उस समय ऑक्सीजन की आवश्यकता होने पर चेतन्य काश्यप फाउंडेशन ने मानव जाति को बचाने का प्रयास किया और ऑक्सीजन प्लांट लगाकर रतलाम के लोगों की जान बचाई। उन्हें गर्व है कि हमारे बीच एक ऐसे जनप्रतिनिधि है जो धन कमाने में नहीं बल्कि पुण्य कमाने का काम कर रहे है।

 

फाउंडेशन अध्यक्ष विधायक चेतन्य काश्यप ने मेधावी विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि आपको अपने जीवन और स्वभाव में सहनशीलता लाना होगी। जीवन में आने वाली सफलता और असफलता को समान रूप से स्वीकार करें। असफलता जीवन में आती है तब सफलता के लिए तैयार होना पड़ता है। खेल चेतना मेला आयोजन का उद्देश्य यहीं है। हम खेल में रोज हारकर जीतने का प्रयास करते है और आखिरकार जीतते है। श्री काश्यप ने कहा कि रतलाम के भविष्य के लिए मेगा इंडस्ट्रियल पार्क का भूमिपूजन प्रधानमंत्रीजी के हाथ से हुआ है। यह रतलाम का सौभाग्य है कि एक ऐसा हाथ रतलाम के साथ लगा है, कि अब क्षेत्र के विकास को कोई रोक नहीं सकता है। 460 करोड़ की लागत से इसका निर्माण होगा और 75 हजार करोड़ का निवेश यहां होगा। करीब पौने दो लाख युवाओं को प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। रतलाम का युवा अब बाहर नहीं जाएगा बल्कि बाहर का युवा रतलाम आकर काम करेगा।

 

श्री प्रदीप पांडेय ने कहा कि विधायक काश्यप का फाउंडेशन समाज, स्वास्थ्य, शिक्षा में लगातार काम कर रहा है। प्रतिस्पर्धा में कभी सफलता तो कभी असफलता मिलती है लेकिन असफलता को हम अपने परिश्रम की पराकाष्ठा से मिटा सकते है। ऐसा करने का साहस यदि हर विद्यार्थी में है तो उसे सभी का आशीर्वाद मिलेगा।

 

महापौर प्रहलाद पटेल ने कहा कि लोग अपने, परिवार के लिए सोचते है लेकिन विधायकजी नगर और यहां के बच्चों के विकास के लिए सोचते है। जमाना काम्पीटिशन का है। आप अपने सपनों को बड़ा करें और एक ही सपना देखे, क्योंकि अलग-अलग सपने देखने से वह पूरे नहीं होते है। श्री राजेंद्र सिंह लुनेरा ने भी मेधावी विद्यार्थियों को शुभकामनाएं दी।

 

आरम्भ में स्वागत भाषण समिति सलाहकार पूर्व महापौर शैलेंद्र डागा ने दिया।अतिथियो का स्वागत श्री काश्यप एवं श्री डागा सहित समिति सलाहकार निर्मल लुनिया, सदस्य महेंद्र नाहर, मनोज शर्मा, सोना शर्मा, मुकेश सोनी, आनंद जैन ने किया । समारोह में 10वीं एवं 12वीं की सीबीएसई एवं एमपी बोर्ड की परीक्षाओं में 75 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले करीब दो हजार मेधावी विद्यार्थियों का सम्मान किया गया। इसमें 92 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को मंचासीन किया गया। प्रत्येक मेधावी विद्यार्थी को सम्मान स्वरूप टाइटन रिस्ट वाच एवं शील्ड प्रदान की गई। समारोह के दौरान सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि, मेधावी विद्यार्थी और उनके अभिभावक उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन विकास शैवाल ने किया

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *