5 साल में ऐसा काम करके बताऊंगा मध्य प्रदेश पूरा हिंदुस्तान जावरा विधानसभा की मिसाल देगा जीवन सिंह 

Spread the love

 

जावरा- विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे जीवन सिंह शेरपुर घर-घर जनसंपर्क कर बड़े बुजुर्ग के पैर छू कर उनसे आशीर्वाद लें रहे गांव-गांव में जीवन सिंह शेरपुर का हार फुल से स्वागत हो रहा तो फल फ्रूट से तोला जा रहा तो महिलाएं व बच्चियां साल श्रीफल भेंट कर आरती उतार कर विजय होने का आशीर्वाद दे रहीं

शनिवार को जीवन सिंह शेरपुर अपने विधानसभा क्षेत्र के मानन खेडा, पिपलिया जोधा ,ताराखेड़ी, पीपलोदी, हनुमंतिया,पंत मेलकी, रणायरा गुर्जर, मोरिया में जनसंपर्क किया उसके बाद में ढोढर में कार्यालय का उद्घाटन किया गया वे रविवार को जावरा शहर के बालाजी मंदिर चौपाटी, गांधी कॉलोनी, शास्त्री कॉलोनी, मित्र नगर, व अन्य जगह जनसंपर्क करेंगे।

 

सुबह जनसंपर्क शुरू करने से पहले रूपनगर फंटे पर स्थित हनुमान जी के दर्शन कर मंगल दास जी महाराज का आशीर्वाद लिया।

 

जनसंपर्क के दौरान बुजुर्ग महिला बोली आज तक मेरा मकान नहीं बनवा पाए केवल वोट लेकर चले जाते हैं

पिपलिया जोधा में जनसंपर्क के दौरान गांव की गरीब बुजुर्ग महिला ने जीवन सिंह शेरपुर से अपना कच्चा मकान बनवाने को कहा और बोला की आज तक सब वोट लेकर गए और आए नहीं।जिसके जवाब में जीवन सिंह ने वादा किया कि चुनाव जीतने के बाद लोगों के कार्य और समस्याएं प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण कराए जाएंगे। बस आप सभी इस समय मुझे अपना कीमती वोट दीजिए परिणाम जो भी आपका घर पक्का बनवाना मेरी जवाब दारी हैं।

 

तीन पदाधिकारी ने छोड़ी कांग्रेस जीवन सिंह शेरपुर को दिया समर्थन

 

अल्पसंख्यक मोर्चा के जावरा विधानसभा के अध्यक्ष मोहम्मद उमर भाई, आबिद खान व अयूब खान ने कांग्रेस छोड़कर निर्दलीय प्रत्याशी जीवन सिंह शेरपुर को समर्थन दिया।

 

पिपलिया जोधा में जनसंपर्क में पहुंचे आबिद खान बोले की मैं कांग्रेस छोड़कर जीवन सिंह जी के साथ में आया हूं क्योंकि हमें नेता नहीं चाहिए एक योद्धा चाहिए और योद्धा के रूप में जीवन सिंह शेरपुर के अलावा कोई नहीं मिलेगा एक भाई के लिए एक भाई की जरूरत पड़ती है जो लड़ाई लड़ सके वह जीवन सिंह शेरपुर हैं नेता आते हैं गाड़ी से कांच उतार कर हाथ ऊंचा करके निकल जाते हैं और चुनाव के टाइम पर हाथ जोड़कर आते हैं उसके बाद में कभी पलट कर नहीं आते हैं हमे ऐसे नेता नहीं चाहिए। हमे एसा नेता चाहिए जो आधी रात में भी हमें कोई काम पड़े वह आकर हमारे साथ खड़ा हो जाए। जावरा के कई सारे लोग हैं जो कांग्रेस छोड़कर जीवन सिंह जी के साथ आए। आप सबको भी जीवन सिंह जी को जिताना है आप सब से निवेदन है जीवन सिंह का साथ दे।

 

 

जनसंपर्क के दौरान चौपाल को संबोधित करते हुए जीवन सिंह बोले

75 सालों से को ना कोई पार्टी देश पर राज करती आई लेकिन गावं रोड़ नहीं बना पाई में आपको वचन देता हूं की जीत गया तो यह रोड़ हाथों हाथ बनवा दुंगा बाद में और कुछ हुआ तो भी धरना प्रदर्शन कर रोड़ बनवा दुंगा। आप के गांव में विधायक कितनी बार आया है जितने के बाद अगर आया ही नहीं तो वोट क्यों दे रहे हो। यह बात समझ नी होगी कि आपकी समस्या सुनेगा कौन।

 

विपक्ष का काम रहता है कि अगर गांव में कोई भी समस्या उसका विरोध करना लेकिन आज तक उनसे कुछ नहीं हुआ क्योंकि उनके पास में ताकत नहीं है लड़ने की। नेताओं को यह भी पता नहीं की किसान अपने खेत की सिंचाई रात में करता है कि दिन में करता है। नेता कुर्सी में बैठते हैं और आप लोग नीचे बैठते हैं वह व्यवस्था भी हम खत्म कर देंगे।

 

पांच साल बाद में वोट मांगने नहीं आऊंगा आप खुद वोट देंगे काम ऐसा करके बताऊंगा। जो चुनाव के टाइम पर वोट मांगने आता है उनको नकारना है और जो 75 सालों से कुछ नहीं कर पाए उनको भी नकारना है। पूरे मध्य प्रदेश में नहीं पूरे हिंदुस्तान में जावरा विधानसभा की लोग मिसाल देंगे ऐसा काम करूंगा

विधायक बनने के बाद में विधायक के जो दायित्व होते हैं उन सभी का में निर्वहन करूंगा

 

पिपलिया जोधा में बोले की आपकी जो प्रमुख समस्याएं हैं रास्ते की हो चाहे सामुदायिक भवन की हो या शमशान घाट का रोड़ हो यह नहीं बने यदि आपके गांव कोई मरता और गांव में विधायक आते हैं और अंतिम संस्कार में चले जाते तो उनको पता चलता की यह रास्ता ख़राब है इनको बनाना पड़ेगा। लेकिन उनके पास में फुर्सत नहीं आपके पास में बैठने की आपसे मिलने की आपके दुख दर्द में आपका साथ देने के लिए। गांव में एक पुलिया है उसे पर बारिश में ऊपर पानी आ जाता है उसे पुल को आज तक नहीं बनवा पाए। इसी गांव में बहुत सारी समस्या है यहां पर 2000 से भी ज्यादा वोटर है लेकिन यहां पर उप स्वास्थ्य केंद्र नहीं है लेकिन विधायक को सुनने के लिए समय नहीं है। कांग्रेस वाले आपके गांव में आते हैं कभी यह बात आकर रखी क्या इस गांव में उप स्वास्थ्य केंद्र होना चाहिए श्मशान घाट का जो रोड है वह बनना चाहिए पुलिया बननी चाहिए आए भी होंगे तो केवल भाषण बाजी करके चले गए होंगे लेकिन वापस नहीं आए होंगे। आप एक बार मेरे पर विश्वास करके देखिए 5 सालों में आपके बीच आता जाता रहूंगा।

 

इनको यह भी पता नहीं है की घोड़ा रोज़ की वजह से किसांनो की फसलें तो खराब हो ही रही है लोगों के एक्सीडेंट भी हो रहे हैं जहां तक घोड़ा रोज़ की वजह से कोई नेता नहीं मरेगा तब तक इन लोगों को समझ नहीं आएगा गरीब किसान मर रहा है उससे इनको कोई फर्क नहीं पड़ता है। जिस दिन घोड़ा रोज़ की एक्सीडेंट से कोई नेता मर गया है उस दिन इनको समझ में आएगा कि घोड़ा रोज़ कितना नुकसानदायक है और उसी दिन के बाद में एक घोड़ा रोज़ भी नजर नहीं आएगा। इन सब बातों के लिए आपका भाई आपका बेटा आपके लिए लड़ेगा आपकी सारी समस्या सारी मजबूरियां मुझे पता है। विपक्ष की भूमिका रहती है। बीजेपी का सत्ता में तो कांग्रेस उठा देती आपके मुद्दे घोड़ा रोज़ की समस्या को लेकर आंदोलन कर देती किसानो की फसलों को भाव नहीं मिल रहा है व मुआवजा नहीं आया बीमा नहीं आया उसको लेकर आंदोलन कर देते लेकिन इनने कुछ नहीं करा। विधानसभा के लिए जो भी काम लाऊंगा वह नाक रगड़ के नहीं आंखों में आंखें डाल कर लाउगा सभी जगह आपके साथ खड़ा रहूंगा आपको कभी एहसास नहीं होने दूंगा कि मैं विधायक हूं आप जहां बैठाओगे वहां बैठ जाऊंगा आप जो कहोगे वह मैं करूंगा जहां बुलाओगे वहां मैं आऊंग। उन विधायक को जैसे नहीं करूंगा जो दो बार आए और दोनों बार वोट मांगने आए हैं वह सिर्फ मांगने आ सकते कभी देने नहीं आ सकते। 75 सालों में ऐसा कोई काम नहीं हुआ जिससे आम आदमी का भला हो सके। मैंने पूरे गांव की स्थिति देखी 5 साल में आपके गांव की यह स्थिति नहीं रहेगी पुरी बदल जाएंगी तो 5 साल बाद में आपसे वोट मांगने नहीं आऊंगा आप खुद में को वोट देंगे ऐसा काम करके बताऊंगा आपको बोलूंगा की मेने काम किया होतो वोट दो नहीं तो दुसरे को देदो 75 सालों में इतना काम कर देना था लोगों के पास आपको वोट मांगने नहीं आना पड़ता मैं नेता नहीं कार्यकर्ता हूं मुझे आपकी चिंता है वह नेता है उनको आपकी नहीं आपको उनकी चिंता है अबकी बार में आप लोगों को कमल का फूल और हाथ का पंजा भूलना पड़ेगा और ऑटो रिक्शा पर मोहर लगाकर मुझे विधानसभा भेजना होगा।

patidar@123

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *